Dil Kaise Na Bekarar Ho

Sale!

299.00


Back Cover

In stock

SKU: 9789391571832 Categories: , , ,

Description

“दिल बेक़रार कै से न हो ” गीत सं ग्रह एक बार पुनः आपकी बेक़रारियो को बढ़ाने वाला है। सभी तरह के दःख-सुख के लम्हों को गी तो केमाध्यम से आप तक पहुँचाने का प्रयास है। पलको के बन्द करने पर भी जब वह दिखाई दे, चन्द लम्हों की मुहब्बत क्या- क्या रंग जीवन में लाती है, बैठे हैं इन्तज़ार में …? चुपके से आकर जो दिल में हलचल मचा दे तो कै से न दिल बेकरार होगा। तरन्म में ग नुये जाने वाले फिल्मी अन्दाज लिये ये गीत आपके हृदय को अवश्य छुयेंगे । फे स बुक के मेरे तमाम दोस्त इन गीतो को पढ़कर आनन्दित होते हैं। उनके कमेन्टस् मेरा उत्साहवर्धन करते हैं और मुझे नयी ऊर्जा प्रदान करते हैं। उनके लिखे अल्फ़ाज़ भी मेरे गीतो की विषय वस्तु बन जाते हैं । कैलाश चन्द्र यादव “गीतकार” काशीपुर जिला ऊधमसिहनगर उत्तराखण

Book Details

Weight 300 g
Dimensions 6 × 9 in
Author

Kailash Chandra Yadav

Binding

Edition

First

ISBN

9789391571832

Pages

300

Language

Hindi

Publication Date

24 January 2024

Author

Kailash Chandra Yadav

Publisher

Anybook